नई शिक्षा नीति में व्यक्ति के समग्र विकास की असीम संभावनाएं हैं-डा0विजेन्द्र सिंह

1 min read

नई शिक्षा नीति में व्यक्ति के समग्र विकास की असीम संभावनाएं हैं-डा0विजेन्द्र सिंह

डॉ0 राम मनोहर लोहिया डिग्री कॉलेज अध्यात्मपुरम ढोटारी गाजीपुर में बी एड विभाग द्वारा सेमिनार का आयोजन किया गया। बी एड प्रशिक्षुओं को संबोधित करते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ विजेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि नई शिक्षा नीति में व्यक्ति के समग्र विकास की असीम संभावनाएं हैं। नई शिक्षा व्यक्ति के सर्वांगीण विकास में सहायक एवं रोजगारपरक है। पहले हम स्नातक स्तर पर चयनित विषयों का अध्ययन करते थे। लेकिन आज चयनित विषयों के साथ साथ कौशलपरक, स्वास्थ्यपरक एवं भाषा से संबंधित विषय का अध्ययन अनिवार्य कर दिया गया जो 1986 के बाद शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन है।

डॉ सिंह ने प्रशिक्षुओ का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि आज से आप शिक्षक की भूमिका का निर्वहन करेंगे और शिक्षक समाज का पथ प्रदर्शक होता है। देश का भविष्य संवारने की जिम्मेदारी आप सभी की है। इसलिए आप निश्चित रूप से समाज हित में अपने कर्तव्य का पालन करेंगे। उन्होंने सभी प्रशिक्षुओं को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।
बी एड विभाग के राजेश सिंह ने नई शिक्षा नीति के प्रमुख बिंदुओं की चर्चा करते हुए उनकी बारीकियों से प्रशिक्षुओं को अवगत कराया। भूगोल प्रवक्ता यशपाल सिंह ने नई शिक्षा नीति को व्यक्ति के विकास के लिए अति महत्वपूर्ण कदम बताया।


बी एड विभाग के सभी प्रशिक्षुओं ने सेमिनार में नई शिक्षा नीति के प्रमुख बिंदुओं की चर्चा करते हुए अपने विचारों से अवगत कराया सेमिनार का प्रमुख बिंदु “नई शिक्षा नीति का उच्च शिक्षा पर प्रभाव” था। कार्यक्रम का संचालन विश्वकर्मा प्रसाद ने किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से सत्येंद्र सिंह कमलेश यादव रविंद्र कुमार गोवर्धन पासवान जंगली प्रसाद उपेंद्र भार्गव उपस्थित थे।

About Post Author

error: Content is protected !!